संजय राउत का आरोप, महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने के लिए हो रही गंदी राजनीति

6 days ago 1

मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार को अस्थिर करने के लिए ‘‘गंदी राजनीति’’ की जा रही है और ऐसी साजिशें कामयाब नहीं होंगी। राउत का यह बयान तब आया है जब एक दिन पहले निलंबित पुलिसकर्मी सचिन वाजे ने एक पत्र में दावा किया कि राज्य के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मुंबई पुलिस में उनकी सेवा जारी रखने के लिए दो करोड़ रुपये मांगे थे और एक अन्य मंत्री अनिल परब ने उनसे ठेकेदारों से पैसा इकट्ठा करने के लिए कहा था। 

इसे भी पढ़ें: टीके की कमी का आरोप बेबुनियाद, महाराष्ट्र अपनी विफलता से ध्यान भटकाने के प्रयास में: हर्षवर्द्धन 

शिवसेना नेता परब ने बुधवार को वाजे के दावों को खारिज कर दिया और कहा कि वह आरोपों की जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने दिवंगत शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे की कसम खाई और कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है। राउत ने बृहस्पतिवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जेल में बंद आरोपियों से पत्र लिखवाने का नया चलन शुरू हुआ है। राज्यसभा सदस्य ने कहा, ‘‘देश ने पहले कभी इस तरीके से गंदी राजनीतिक खेल खेलते हुए नहीं देखा जिसमें जांच एजेंसियों और राजनीतिक दलों के आईटी सेल का इस्तेमाल कर चरित्र हनन किया जाए और जेल में बंद आरोपियों से पत्र लिखवाए जाएं।’’ 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र के ठाणे में कोविड-19 के 6,290 नए मामले, 21 और लोगों की मौत 

राउत ने कहा कि एमवीए सरकार को कमजोर तथा अस्थिर करने की कोशिशें ‘‘सफल नहीं होंगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं अनिल परब को जानता हूं। वह कट्टर शिव सैनिक हैं और बालासाहेब ठाकरे के नाम पर कभी झूठी कसम नहीं खाएंगे।’’ शिवसेना महाराष्ट्र में राकांपा और कांग्रेस के साथ सत्ता में है।

A new tactic has come to light wherein people who are in jail write letters. This is a political conspiracy I know Anil Parab, he can never indulge in such work. I can assure, no Shiv Sainik can take a false oath in Bala Saheb Thackeray's name: Shiv Sena's Sanjay Raut https://t.co/D4NKV6Kf6Y pic.twitter.com/t3J9OzVHzk

— ANI (@ANI) April 8, 2021
Read Entire Article