गुजरात में भगवा बयार, सभी छह नगर निगमों पर भाजपा का कब्जा

3 days ago 2
रविवार को गुजरात में हुए 6 नगर निगमों के चुनाव में भाजपा की शानदार विजय हुई है। अहमदाबाद, भावनगर, सूरत, बड़ोदरा, जामनगर और राजकोट में भाजपा ने सभी नगर निगमों पर एक बार फिर से कब्जा कर लिया है। सूरत में तो भाजपा लगातार 30 वर्षों से सत्ता में है। सूरत में कांग्रेस का सूपड़ा पूरी तरह से साफ हो गया है। यहां विपक्ष के रूप में आम आदमी पार्टी का उदय हुआ है। सूरत में आम आदमी पार्टी को 27 सीटें मिली हैं। इसी से गदगद अरविंद केजरीवाल ने ऐलान भी कर दिया है कि वह 26 फरवरी को सूरत में एक रोड शो भी करेंगे। अहमदाबाद में भी भाजपा की स्थिति बेहद ही मजबूत रही। हालांकि यहां असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी खाता जरूर खुल गया है। 
 

इसे भी पढ़ें: आने वाली पीढ़ी के लिए दरवाजे बंद कर देंगे नये कृषि कानून: योगेंद्र यादव


वहीं, मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के शहर राजकोट में भी भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपराजय बढ़त बना ली है। इतना ही नहीं, यहां 2015 के मुकाबले भाजपा को ज्यादा सीटें आई हैं। कुल मिलाकर अगर कहे तो भाजपा को जामनगर, राजकोट, बड़ोदरा और भावनगर के साथ-साथ सूरत और अहमदाबाद में भी बहुमत मिल गई है। एक तरफ भाजपा की शानदार विजय हुई है लेकिन सबसे खराब स्थिति वहां पर कांग्रेस की हुई है। कांग्रेस को इस नगर निगम के चुनावों में करारा झटका लगा है। उसके डेटिंग डेस्टिनेशन वाले वादे ने भी उसकी डूबती नैया को पार नहीं लगाया। यही कारण है कि लगभग सभी नगर निगम में भाजपा की तुलना में कांग्रेस काफी पीछे रही। आम आदमी पार्टी ने सूरत के नतीजों को चौंकाने वाला बताया है। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि नई राजनीति की शुरुआत के लिए गुजरात के लोगों को दिल से बधाई। पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि गुजरात के लोगों ने बहुत प्यार दिया है। गुजरात के रिजल्ट से कई राजनीतिक मायने सामने आएंगे। 
 

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 के दौरान भारत का स्वास्थ्य क्षेत्र अग्निपरीक्षा में सफल रहा: PM मोदी


आप ने छहों नगर निगमों में कुल 470 उम्मीदवार उतारे थे। वहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने भाजपा की शानदार जीत पर बधाई देते हुए ट्वीट किया कि मैं सभी छह महानगरों के मतदाताओं का धन्यवाद देता हूं। मैं उन सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस चुनाव में कड़ी मेहनत की है। मैं गुजरात की जनता को विश्वास दिलाता हूं कि बीजेपी में रखा गया भरोसा पार्टी बेकार नहीं जाने देगी। सरकार 6 नगर निगमों के विकास के लिए हर संभव कोशिश करेगी। रूपाणी ने ट्वीट में यह भी कहा कि गुजरात के लोगों ने राजनीतिक विश्लेषकों को एक विषय उपलब्ध कराया है, जो इस बारे में अध्ययन कर सकते हैं कि किस तरह से सत्ता विरोधी लहर का सिद्धांत राज्य (गुजरात) में लागू नहीं होता है। उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने भी चुनाव परिणामों को लेकर मतदाताओं और भाजपा कार्यकर्ताओं का आभार जताया है। रविवार को हुए छह नगर निगमों के चुनाव में औसतन 46.1 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने जामनगर में तीन सीटों पर जीत दर्ज की है। अहमदाबाद में कुल 192 सीटों, राजकोट में 72, जामनगर में 64, भावनगर में 52, वड़ोदरा में 76, और सूरत में 120 सीटों पर 21 फरवरी को मतदान हुआ था।

મહાનગરોની સ્થાનિક સ્વરાજય ચૂંટણીમાં ભાજપના વિકાસ અને પ્રગતિના પ્રતીક ઉપર ફરીથી વિશ્વાસ કરવા બદલ હું ગુજરાતની જનતાને હૃદયપૂર્વક અભિનંદન આપું છું. આ ભવ્ય વિજય માટે શ્રી @CRPaatil, મુખ્યમંત્રી શ્રી @vijayrupanibjp, શ્રી @Nitinbhai_Patel,અને તમામ ઉર્જાવાન કાર્યકરો ને ખૂબ ખૂબ અભિનંદન.

— Amit Shah (@AmitShah) February 23, 2021 इस जीत के बाद भाजपा खेमे में जहां उत्साह है और कार्यकर्ताओं में जबरदस्त खुशी है। वहीं कांग्रेस को एक बार फिर से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। आम आदमी पार्टी भी आज के प्रदर्शन को लेकर काफी खुश है। सूरत में कांग्रेस के नुकसान का सबसे बड़ा कारण बताया जा रहा है इस बार पाटीदार आरक्षण समिति ने उसका विरोध किया था। इसके अलावा आम आदमी पार्टी ने सबसे ज्यादा पाटीदार उम्मीदवारों को टिकट दिए थे और उन्हीं को केंद्र में रखकर प्रचार किया था। अहमदाबाद में भाजपा 2008 से लगातार जीत रही है। बड़ोदरा में 2005 से, सूरत की बात करें तो 1990 से भाजपा यहां लगातार चुनाव जीत रही है। राजकोट में भी 2005 चुनाव जीत रही है। भावनगर और जामनगर में 1995 से भाजपा सत्ता में है। 
 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका गांधी ने मोदी को बताया कायर प्रधानमंत्री, बोलीं- सवाल उठने पर पिछली सरकारों को ठहराते हैं जिम्मेदार

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी गुजरात के चुनाव के नतीजों पर खुशी जाहिर की है उन्होंने ट्वीट कर कहा कि गुजरात की सभी छः महानगर पालिका में हुए स्थानीय निकाय के चुनावों में भाजपा को अपार बहुमत मिला है। गुजरात भाजपा की यह ऐतिहासिक जीत प्रदेश की जनता की आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जन-कल्याणकारी और विकासोन्मुख नीतियों में अटूट विश्वास की जीत है। मैं प्रदेश की जनता को भाजपा में निरंतर विश्वास प्रकट करने के लिए धन्यवाद देता हूँ। चाहे बिहार विधानसभा चुनाव हो या 11 राज्यों में संपन्न हुए उप-चुनाव या फिर असम, अरुणाचल, जम्मू-कश्मीर, गोवा, राजस्थान, लद्दाख, हैदराबाद और गुजरात में संपन्न हुए स्थानीय निकाय चुनाव, देश के किसान, मजदूर, व्यापारी, युवा एवं महिलाओं ने मोदी सरकार की नीतियों को भी अपना समर्थन दिया है। गृह मंत्री अमित शाह ने ट्विट में लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, केंद्र और राज्य सरकार गरीब, पिछड़े और वंचित वर्ग के कल्याण के साथ-साथ राज्य के वैश्विक विकास के लिए लगातार काम कर रही हैं। यह जीत भाजपा की नीति और नियति में लोगों के अविश्वसनीय विश्वास का प्रतीक है। मैं महानगर निकाय चुनावों में भाजपा के विकास और प्रगति के प्रतीक में फिर से विश्वास करने के लिए गुजरात के लोगों को दिल से बधाई देता हूं।

गुजरात की सभी छः महानगर पालिका में हुए स्थानीय निकाय के चुनावों में @BJP4Gujarat को अपार बहुमत मिला है। मैं इस अभूतपूर्व विजय के लिए मैं सभी छः महानगर पालिका के मतदाताओं , मुख्यमंत्री @vijayrupanibjp जी , प्रदेश अध्यक्ष @CRPaatil जी और पार्टी कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देता हूँ।

— Jagat Prakash Nadda (@JPNadda) February 23, 2021
Read Entire Article